समोच्चारित भिन्नार्थक शब्द –

हिंदी भाषा में कुछ शब्द उच्चारण की दृष्टि से लगभग समान प्रतीत होते है , परंतु उनके अर्थ में बहुत अंतर होता है |ऐसे शब्दो को समोच्चारित भिन्नार्थक शब्द , शब्द-युग्म या शब्दों में सुक्ष्म अंतर कहते हैं |

शब्द -युग्मअर्थ
1.अनलअग्नि
अनिलवायु
2. अपकारबुराई
उपकारभलाई
3. अवधिसमय सीमा
अवधीअवधी भाषा
4. अविलम्बशीघ्र
अवलम्बसहारा
5. अंतसमाप्ति
अंत्यनीच
6. अनुकरणनकल करना
अनुसरणपीछे चलना
7. अपेक्षातुलना करना
उपेक्षाअवहेलना करना
8. आभासप्रतीति होना
आवासनिवास
9. अलिभौंरा
आलीसखी (सहेली)
10. अविरामबिना रुके
अभिराममनोरम
11. अतलगहरा
अतुलजिसकी तुलना न की जा सके
12. अनभिज्ञअनजान
अभिज्ञजानकार
13. आकाररूप (शक्ल )
आगारभंडार
14. अंशभाग (हिस्सा)
अंसकंधा
15. आचरणचाल -चलन
आवरणपर्दा
16.इतिसमाप्ति
ईतिप्राकृतिक प्रकोप
17. उद्यततैयार
उद्धतउद्दण्ड
18. केसरघोड़े या सिंह के अयाल
केशरपराग
18. कंगालनिर्धन
कंकालहड्डियों का ढ़ाचा
19. कपटछल
कपाटकिवाड़
20.कटीलाधारदार
कँटीलाकाँटेदार
21. कृपणकंजूस
कृपाणकटार
22. केशसिर के बाल
केसडिब्बा
23. कुलवंश
कूलतट ,किनारा
24. गृहघर
ग्रहआकाशीय पिण्ड
25. चिरलम्बा समय , देर
चीरवस्त्र
25.छात्रविद्यार्थी
क्षात्रक्षत्रिय धर्म
26. जलजकमल
जलदबादल
28. जराबुढ़ापा
ज़राथोड़ा
29. तरणिसूर्य
तरणीनाव
30. तरंगलहर
तुरंगघोड़ा
31. तवतेरा
तबउसी समय
32. दशनदाँत
दंशनकाटना
33. द्विपहाथी
द्वीपटापू
34. दिनदिवस
दीनगरीब
35. नगनगीना
नागसर्प
36. निधनमृत्यु
निर्धनधनहीन
37. पवनवायु
पावनपवित्र
38 . परीक्षकपरीक्षा लेने वाला
निरीक्षकनिरीक्षण करने वाला
39. प्रमाणसबूत
प्रयाणजाना
40. पाशबंधन जाल
पासनिकट
41. परिमाणनाप तौल
परिणामनतीजा
42. पुष्टमोटा -ताजा
पुष्टिसमर्थन करना
43. प्रणप्रतिज्ञा
पणव्यापार
44. परुषकठोर
पुरुषव्यक्ति,आदमी
42. पण्डितविद्वान
पाण्डित्यविद्वत्ता ( विद्वान होने की अवस्था)
43. वातवायु (एक प्रकार का रोग )
बातकथन
44. भवनमकान
भुवनलोक
45 . मलिनमैला
मालिनफूल बेचने वाली
46. मंत्रणाविचार -विमर्स करना
यंत्रणायातना देना (कष्ट देना )
47. मूल्यकीमत
मूलजड़
48. रसआनंद
रासएक प्रकार का नृत्य
49. लोकसंसार
लोगजन,आदमी
50. वसनवस्त्र , कपड़ा
व्यसनबुरी आदत
51. वहनढ़ोना
वाहनगाड़ी
52. शरतीर
सरतालाब
53. शूरवीर
सूर्य सूरज
54. श्वजनकुत्ता
स्वजनआत्मीय जन
55. स्वर्णसोना
सवर्णउच्च जाति
56. सकलसम्पूर्ण
शकल टुकड़ा
57. सुतपुत्र
सूतधागा
58. सुगंधसुवास,महक
सौगंधकसम ,शपथ
59. हिमांशुचंद्रमा
हिमांबुशीतल जल
60. क्षतिनुकसान ,हानि
क्षितिधरती, पृथ्वी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

वेबसाइट के होम पेज पर जाने के लिए क्लिक करे

Donate Now

Please donate for the development of Hindi Language. We wish you for a little amount. Your little amount will help for improve the staff.

कृपया हिंदी भाषा के विकास के लिए दान करें। हम आपको थोड़ी राशि की कामना करते हैं। आपकी थोड़ी सी राशि कर्मचारियों को बेहतर बनाने में मदद करेगी।

[paytmpay]