शब्दों मे सूक्ष्म अंतर ( शब्द –युग्म)

शब्दों मे सूक्ष्म अंतर  या  शब्द –युग्म –  शब्द –युग्म या शब्दो में सूक्ष्म अंतर से हमारा तात्पर्य हिन्दी भाषा के ऐसे शब्दों से है, जो उच्चारण करने मे लगभग समान ध्वनि में उच्चरित होते है , परन्तु उनमे मात्रा आदि की भिन्नता रहती है ,तथा अर्थ मे भी भिन्नता रहती है| पाठक गण उसको एक ही समझकर गलती कर बैठते है | ऐसे ही शब्दो मे सूक्ष्म –अंतर को आगे अर्थ सहित बताया जायेगा |

हिन्दी भाषा में कुछ शब्द उच्चारण की दृष्टि से लगभग समान प्रतीत होते है , परन्तु उनके अर्थ में बहुत अधिक अंतर होता है| ऐसे शब्दो को समोच्चारित भिन्नार्थक शब्द ,शब्द –युग्म , शब्दो मे सूक्ष्म अंतर या समध्वनि भिन्नार्थक शब्द आदि नामो से जाना जाता है |


इन शब्दो को अर्थ सहित निम्न तालिका व्दारा समझा जा सकता है |

शब्दअर्थ
अंस

अंश

कंधा

हिस्सा ,भाग

अगम

आगम

दुर्लभ

शास्त्र ,उत्पति

अंगना

अँगना

स्त्री

घर का आँगन

अंगद

अगद

बाजूबन्द

रोगरहित

अन्न

अन्य

अनाज

दूसरा

अनल

अनिल

आग

हवा

अन्त

अन्त्य

समाप्त

नीच

अवलम्ब

अविलम्ब

सहारा

शीघ्

अम्ब

अम्बु

माता

जल

अध्ययन

अध्यापन

पढ़ना

पढा‌ना

अधम

अधर्म

नीच

पाप

अंतर

अनंतर

फर्क

बाद

अलि

अली

भौरा

सखी

अनिष्ट

अनिष्ठ

बुरा ,बुराई

निष्ठा-रहित

अपेक्षा

उपेक्षा

इच्छा

निरादर \अवहेलना

अतल

अतुल

तलहीन

जिसकी तुलना न की जा सके

अणु

अनु

सूक्ष्म कण

पीछे \एक उपसर्ग

अगला

अर्गला

आगे का

रोकने की कील

अशक्त

आसक्त

शाक्तिहीन

मोहित

अविराम

अभिराम

लगातार \निरन्तर

सुन्दर

अभय

उभय

निर्भय ,बिना डर के

दोनों

अयश

अयस

बदनामी

लोहा

अचर

अनुचर

न चलने वाला \स्थिर

सेवक \नौकर

अम्बुज

अम्बुद

कमल

बादल

अजर

अजिर

बुढापा

आँगन

अपमान

उपमान

निरादर

जिससे उपमा दी जाय

अभिनय

अभिनव

नाटक

नूतन

अमल

अम्ल

बिना मैल

तेजाब

अवरोध

अविरोध

रुकावट

बिना विरोध के

अवधि

अवधी

एक निश्चित समय

अवध की भाषा

अशोच

अशौच

चिंता रहित

अपवित्रता

असन

आसन

भोजन

बैठने का स्थान ,सीट

अक्ष

यक्ष

धूरी

एक देवयोनि

आकार

अकार

शक्ल

खजाना ,खान

आवास

आभास

रहने का स्थान

संकेत \झलक

आदि

आदी

आरम्भ

अभ्यस्त

आमरण

आभरण

मृत्यु तक

गहना

आहत

आहुत

निमन्त्रित (जिसको बुलाया गया हो )

यज्ञ मे डाला गया

आयत

आयात

लम्बाई और चौडाई मे होना

अपने देश में  माल मगाँना

आर्त

आर्द्र

दुखी

गीला

आयात

आवाद

संकट \विपदा

पैर तक

आलोक

अलोक

प्रकाश

सुनसान

आरसी

आर्ष

सीसा

वेद सम्बन्धी

आचार्य

आचार

विव्दान

व्यहार सम्बन्धी नियम

आधि

आधी

मानसिक कष्ट

आधा (1\2 ) का स्त्रीलिंग

आद्य

अद्द

पहला

आज

आयुक्त

अयुक्त

कमिश्नर

जो उचित न हो

आगत

अगत

माया हुआ

खराब गति

आर्ती

आरती

दु:

धूप  ,दीप आदि व्दारा पूजन करना

इत्र

इतर

सुगंध

दूसरा

इंद्रा

इन्दिरा

इंद्र की पत्नी (एक नाम शची भी है )

लक्ष्मी

इन्दु

इन्दुर

चन्द्र्मा

चूहा

इति

ईति

अन्त

बाधा \आपत्ति

उपकार

अपकार

भलाई

बुराई

उत्पल

उपल

कमल

ओला

उपेक्षा

अपेक्षा

लापरवाही

तुलना मे

उपयुक्त

उपर्युक्त

ठीक

ऊपर कहा हुआ

उबारना

उभारना

उध्दार करना

उत्साहित करना

उदाहरण

उध्दरण

मिसाल \नमूना

किसी का वाक्य कथन

ऋत

ऋतु

सत्य

मौसम

एतवार

ऐतवार

रविवार

विश्वास

ओर

और

तरफ

तथा

औटना

ओटना

खौलना

बिनौले अलग करना

कंगाल

कंकाल

दरिद्र

ठठरी

कुच

कच

स्तन

केश (बाल)

कुल

कूल

वंश

किनारा

करि

कीर

हाथी

तोता

कीट

किटि

कीडा‌

सूअर

कृति

कीर्ति

रचना

यश (प्रसिध्दि)

करकट

कर्कट

कचरा

केकडा

कोर

कौर

सिरा

निवाला

कोष

कोश

खजाना

शब्द संग्रह

कली

कलि

अधखिला फूल

कलियुग

कृपण

कृपाण

कंजूस

तलवार

क्रम

कर्म

सिलसिला (एक पर एक )

कार्य

कपीस

कपिश

हनुमान

मटमैला

कटिबध्द

कटिबन्ध

तैयार

करधनी

कुमार

कुम्हार

बच्चा (लड़का )

मिट्टी का बर्तन बनाने वाला

खलु

खल

निश्चय ही

दुष्ट

कड़ी

कढी‌

सख्त

दही और बेसन का मिश्रण

कटौती

कठौती

कमी

काठ का बर्तन

कुजन

कूजन

बुरा आदमी

कलरव

 केशर

केसर

सिंह के गर्दन के बाल

जाफरान \कुंकुम

खरा

खर्रा

विशुध्द \एकदम सही

लम्बा चिट्ठा

खोलना

खौलना

बन्धन मुक्त करना

उबालना

खाद

खाद्द्य

उर्वरक

खाने योग्य

ग्रन्थ

ग्रन्थि

पुस्तक

गाँठ

गधा

गदा

गर्दभ \गदहा (एक पशु )

व्यायाम का एक साधन

गोला

गोरा

गोल वस्तु

सफेद

गण

गण्य

समूह

गिनने योग्य

ग्रह

गृह

चन्द्र आदि

घर

गुटका

गुटिया

पुस्तिका

गोली

घोर

घोल

बहुत बुरा

घुला हुआ \मिश्रण

चीर

चिर

वस्त्र

प्राचीन

चालक

चालाक

ड्राइवर

चतुर

चीड़

चील

एक पेड़ का नाम

एक पक्षी

चार

चारु

गिनती का अंक (क्रम से चौथा)

सुन्दर

चीता

चिता

जानवर (जो जंगल मे रहता है )

शव को जलाने के लिए बनाया गया लकडि‌यों का ढेर

चर्म

चरम

चमड़ा

बहुत अधित

चरित

चरित्र

जीवनी

आचरण

चंट

चंड

चतुर

क्रोधी

चतुष्पद

चतुष्पथ

चार पैर वाला

चौराहा

चौंक

चौक

अचानक आने की आहट

नगर का मध्य भाग

चेली

चैली

 शिष्या

लकड़ी चीरने के बाद अवशेष पतली लकड़ी

चषक

चसक

प्याला

लत \चस्का

चिर

चीर

अधिक काल

वस्त्र

छ्त्र

क्षत्र

छाता

क्षत्रिय

छात्र

क्षात्र

विद्यार्थी

क्षत्रिय सम्बन्धी

छद्म

छ्न्द

छल

कबित्त

छीन

क्षीण

छीनना \जबरदस्ती ले जाना

कमजोर

जगत्

जगत

संसार

कुँए का चबूतरा

जलद

जल्द

बादल

शीघ्र

जलाना

जिलाना

फूँकना

जिंदा करना

जरा

जर

बुढापा

दौलत

जवान

जबान

युवा

जीभ

जामन

जामुन

दूध जमाने की खटाई

एक प्रकार का फल

झक

झख

सनक

तुच्छ कार्य

टुक

टूक

थोड़ा

टुकड़ा

डीठ

ढीठ

नजर \दृष्टि

धृष्ट

डोर

डोल

सूत / धागा

एक बरतन

ढलाई

ढिलाई

ढालने का काम

शिथिलता

तरणि

तरणी

सूर्य

नाव

तरंग

तुरंग

लहर

घोड़ा

तप

ताप

तपस्या

गर्मी

तृण

त्राण

तिनका

मुक्ति

तम

तमा

अंधेरा

रात्रि

दूत

द्यूत

संदेशवाहक

जुआ

दारु

दारू

लकड़ी

शराब

द्विप

द्वीप

हाथी

टापू

दारा

द्वारा

पत्नी

माध्यम

देव

दैव

देवता

भाग्य

दिन

दीन

दिवस

गरीब

धन

धन्य

रूपया- पैसा

पुण्यवान

धरा

धारा

पृथ्वी

प्रवाह

धराधर

धड़ाधड़

शेषनाग

जल्दी

नकल

नकुल

प्रतिलिपि

नेवला

नाक

नाग

स्वर्ग

सर्प

नारी

नाड़ी

स्त्री

नब्ज

निहत

निहित

मरा हुआ

छिपा हुआ

निश्र्चल

निश्छल

अटल

बिना छल के ( छलरहित )

नीड़

नीर

घोंसला

जल

नहर

नाहर

सिंचाई हेतु निकाली गई कृत्रिम नदी

शेर

निशान

निसान

चिह्न

झण्डा

नियत

नियति

निश्चित

भाग्य

निर्वाद

निर्विवाद

निंदा

विवाद – रहित

नेति

नेती

अनंत

मथानी की रस्सी ( दही मथने के लिये )

नमित

निमित्त

झुका हुआ

हेतु

नित

नीत

हमेशा /हर दिन

लाया हुआ /पहुँचाया हुआ

पड़ना

पढ‌ना

अंदर होना

वाचन करना

पास

पाश

नजदीक

बन्धन

पिक

पीक

कोयल

थूक

परुष

पुरुष

कठोर

आदमी

पानी

पाणि

जल

हाथ

पथ

पथ्य

मार्ग

रोगी का नियामानुसार भोजन

परिक्षा

परीक्षा

कीचड़

इम्तिहान

परिचारक

प्रचारक

सेवक

प्रचार करने वाला

प्रबल

प्रवर

शक्तिशाली

श्रेष्ठ

प्रदीप

प्रतीप

दीपक

उल्टा

प्रस्तर

प्रस्तार

पत्थर

प्रसार

प्रणाम

प्रमाण

नमस्कार

सबूत

पौत्र

पोत

पोता

जहाज

प्रसाद

प्रासाद

देवी –देवता को चढाने वाली वस्तु

महल

पवन

पावन

वायु

पवित्र

परिणत

परिणति

रुपान्तरित

समाप्ति

प्रदेश

परदेश

देश का एक भाग (प्रान्त)

विदेश (दूसरा देश )

फण

फन

साँप का सिर

कला \हुनर

बहन

बहाना

भागिनी

झूठ –मूठ की बात करना

बास

वास

महक

निवास

बद

बंद

खराब

जो खुला न हो

बात

वात

वचन

हवा

बाट

वाट

रास्ता \बटखरा

हिस्सा

बसन

व्यसन

कपड़ा

बुरी आदत

बदन

वदन

शरीर

मुख

भारतीय

भारती

भारत का

सरस्वती

भव

भाव

संसार

अर्थ

भीत

भित्ति

डरा हुआ

दीवार

भवन

भुवन

महल या घर

संसार

भावी

भाभी

आने वाला समय

बडे भाई की पत्नी

मनुज

मनोज

मनुष्य

कामदेव

मल

मल्ल

गंदगी

योध्दा या पहलवान

मात्र

मातृ

 केवल

माता

मेघ

मेध

बादल

यज्ञ

मंडी

मंदी

व्यापार का स्थान

गिरावट

मोर

मौर

मयूर पक्षी

मुकुट

मांस

मास

गोश्त

महीना

मद

मद्य

अंहकार

शराब

योगीश्वर

योगेश्वर

योगियों में श्रेष्ठ

महादेव

युक्ति

युक्त

उपाय

उचित

रंग

रंक

वर्ण

गरीब

रत

रति

लीन

प्रेम \श्रृंगार रस का स्थायी भाव\कामदेव की पत्नी

रक्त

रिक्त

खून

खाली

लक्ष्यउद्देश्य \निशाना
लक्षलाख
लता

लत्ता

बेल

फटा –पुराना कपड़ा

लवण

लवन

नमक

कटाई

वित्त

वृत

रुपया – पैसा

आचरण \गोल घेरा

विवर्ण

विवरण

रंगहीन

वृतांत

वाद

वाद्य

तर्क –वितर्क

बाजा

विस्मृत

विस्मित

भूला हुआ

आश्चर्य चकित

विधायक

विधेयक

रचने वाला \विधान सभा का सदस्य

विधान\कानून

वादी

बादी

वाद दायर करने वाला

गरिष्ठ भोजन

वस्तु

वास्तु

चीज

मकान

विलक्षण

विचक्षण

अद्भुत

चतुर

वन

वन्य

जंगल

जंगली

शुचि

सूचि

पवित्र

सुई

शंकर

संकर

महादेव

मिश्रित (मिला हुआ)

शर

सर

बाण

तालाब

शस्त्र

शास्त्र

हथियार

सैद्धान्तिक

शम

सम

 

शान्ति /संयम

समान

शीशा

सीसा

काँच

एक धातु

सील

शील

मुहर

चरित्र

शिरा

सिरा

नाडी‌

किनारा \छोर

श्वजन

स्वजन

कुत्ता

अपने लोग

शंकट

शकठ

गाडी

मचान

श्वपच

स्वपच

चाण्डाल

स्वंय भोजन बनाने वाला

श्रोत

स्रोत

कान

उद्गान स्थान

शकल

शकल

टुकणा

सम्पुर्ण

शाम

शीत

सांय

गेय वेद मंत्र

शीत

शित

ठ्ण्डा

दुर्बल

सान

शान

धार तेज करना

तड‌क भडक \प्रतिष्ठा

सवा

सबा

चौथाई

सुबह की हवा

स्वेद

स्वेत

पसीना

सफेद

संभावना

समभावना

आशा \संदेह

समानता की भावना

सन्

सन

वर्ष

पटुआ (सुतली )

सीकर

सीकड़

जलकण

जंजीर

सुगंध

सौगंध

सुवास

कसम

सपत्नीक

सपत्नी

सौत

पत्नी सहित

सुवर्ण

सवर्ण

सोना

उच्च वर्ण का

सुत

सूत

पुत्र \बेटा

रुई का धागा

साला

शाला

पत्नी का भाई

घर

सुधि

सुधी

होश

बुद्दिमान \विव्दान

सत्र

शत्रु

वर्ष

दुश्मन

सखी

साखी

सहेली

साक्षी (गवाह )

हल्

हल

व्यंजन

खेत जोतने का औजार

हँस

हंस

हसने की क्रिया

मराल (एक पक्षी )

हरि

हरी

विष्णु

हरे रंग की

हल्का

हलका

कम वजन

क्षेत्र

हरण

हरिण

ले जाना

मृग

हार

हाड़

माला

हड्डी

 


Comments are closed.

वेबसाइट के होम पेज पर जाने के लिए क्लिक करे

Donate Now

Please donate for the development of Hindi Language. We wish you for a little amount. Your little amount will help for improve the staff.

कृपया हिंदी भाषा के विकास के लिए दान करें। हम आपको थोड़ी राशि की कामना करते हैं। आपकी थोड़ी सी राशि कर्मचारियों को बेहतर बनाने में मदद करेगी।

[paytmpay]