संस्कृत में कीड़े – मकोड़ों , जलीय एवं अन्य प्राणियों के नाम

हिंदीसंस्कृत
अजगर अजगर:
कनखजूराकर्णजलौका
केंचुआमण्डूपद: , किञ्चुलुक:
कीड़ाकीट: ,कृमि: , कीटक:
केकड़ाकर्कटक:
खटमलमत्कुण:
गिरगिटकृकलास:
घुनघुण:
घोंघाशम्बुक: , कोषस्थ:
चींटीपिपीलिका
चींटापिपीलिक:
चूहामूषक:
चुहियामूषिका
छुछुंदरछुछुंदरी
छिपकलीगृहगोधिका
जुगनूखद्योत:
जूँयूका , केशट: , षट्पदी
जोकरक्तप: , जलौका
जंगली मक्खीवनमक्षिका ,कण्टक:
झींगुरझिल्लिका
तिलचट्टातैलप:
तितलीशलभ: , तित्तिर:
दीमकउपदीका , वर्मी
नागभुजङ्ग , सर्प: , नाग:
नागिनभुजङ्गी , सर्पिणी
पतंगापतङ्ग:
बर्रेवरटा
बिच्छुवृश्चिक:
भौंराभ्रमर: , अलि: , द्विरेफ:
मकड़ीऊर्णनाभ: , लूता , मर्कटक:
मक्खीमक्षिका
मधुमक्खीमधुमक्षिका , सरधा
मच्छरमशक:
मछलीमत्स्य: , मीन:
मेढकमण्डूक:
मेंढकीमण्डूकी
लीखलिक्षा
सांपसर्प: , अहि:
सीपीशुक्ति:

Comments are closed.

वेबसाइट के होम पेज पर जाने के लिए क्लिक करे

Donate Now

Please donate for the development of Hindi Language. We wish you for a little amount. Your little amount will help for improve the staff.

कृपया हिंदी भाषा के विकास के लिए दान करें। हम आपको थोड़ी राशि की कामना करते हैं। आपकी थोड़ी सी राशि कर्मचारियों को बेहतर बनाने में मदद करेगी।

[paytmpay]