अनेकार्थी शब्द :-

भाषा में बहुत ऐसे शब्द है जो एक से अधिक अर्थ का बोध कराते है ,ऐसे शब्दों को अनेकार्थी शब्द कह्ते है |

जैसे – कनक शब्द सोना,धतूरा,गेंहू के अर्थ मे प्रयोग होता है |

शब्दअनेकार्थी शब्द
अनन्तसमुद्र , आकाश , सर्पों का राजा , ब्रह्म , अन्तहीन |
अर्थप्रयोजन , मतलब , धन , तात्पर्य |
अलीभ्रमर , सखी |
अर्करस , आक , सूर्य |
अजबकरा , ब्रह्म , दशरथ के पिता का नाम , ब्रह्मा |
अम्बरबादल , आकाश , वस्त्र |
अंकनाटक के अंक , गोद , परिच्छेद , संख्या के अंक |
अंकुशहाथी पर नियंत्रण हेतु लोहे का हुक, रोक ,बंधन |
अंचलक्षेत्र, साड़ी का छोर |
अक्षतचावल का दाना ,सम्पूर्ण ,अखण्ड |
अनलवायु ,पित्त ,आग ,परमेश्वर ,जीव ,विष्णु|
अमृत अमर ,घी ,सूर्य , न मरा हुआ ,विष ,जल
उत्तरजवाब , बाद का , एक दिशा , अगला |
कनकसोना , गेहूँ , धतुरा |
कमलएक पुष्प , निर्लिप्त, पंकज, पानी, आँख की पुतली ,पीलिया रोग |
कपिचंचल , बन्दर ,हाथी, ईश्वर |
कंचनलाल कचनार , सोना , धन- सम्पति, धतुरा ,निर्मल |
करटैक्स , हाथी की सूण्ड , हाथ , किरण |
कर्णकुन्ती का पुत्र , कान , समकोण त्रिभुज में समकोण के सामने की भुजा |
गुणरस्सी , स्वभाव , धनुष की डोर , ओज , माधुर्य , साहित्य में प्रसाद |
गौवाणी , बैल , गाय , पृथ्वी , इन्र्दिय ,दिशा |
गुरुदीर्घ स्वर , शिक्षक , दीक्षा देने वाला , भारी |
घनलोहे का बड़ा हथौड़ा , ठोस , बादल , घना |
जनकराजा जनक , पिता , उत्पन्न करने वाला |
जड़निर्जीव , वृक्ष की मूल (जड़) , मूल कारण , मूर्ख,अचेतन |
तातभाई , पिता , गुरु ,पूज्य व्यक्ति हेतु सम्बोधन,मित्र |
तारानक्षत्र ,आँख की पुतली |
तीरकिनारा, वरण, सीमा |
तनयापुत्री ,गिरि,कलिंग |
दण्डएक व्यायाम ,डण्डा,सीमा |
द्विजपक्षी , वैश्य ,दाँत, ब्राह्मण ,क्षत्रिय|
दलमांसल भाग , समूह |
नकुलचौथा पाण्डव ,नेवला|
नागएक देश ,एक जाति ,बदल ,हाथी ,बदल, पर्वत ,साँप |
नगवृक्ष ,पर्वत, नगीना,अदद |
नाकआकाश मण्डल ,स्वर्ग , नासिका ,मगर, नाक से निकलने वाला श्वेत तरल पदार्थ |
नागरनगरवासी , नम्र, नामहीन,चतुर |
नगेशहिमालय ,सुमेरु,पर्वतों का राजा |
नदीसरिता, दरिया |
प्रकाशस्पष्ट , खुला, धूप ,प्रसिद्ध ,दीप्ति |
पतंगपक्षी ,नौका, एक खिलौना, सूर्य , विष्णु , दीपक की लौ पर उड़ने वाला कीट|
पदस्थान, गीत , पैर, छंद का चरण |
पत्रपंख ,पत्ता, चिट्ठी , पुस्तक का पृष्ठ |
पयोधरबादल ,समुद्र |
पत्नीसहधर्मिणी, भार्या, परिणीता|
पयशुक्र ,वीर्य ,अन्न, दूध ,जल, ओज, शक्ति,आहार |
फललाभ . भाले की नोंक |
फूलघूटने की गोल हड्डी, पुष्प, एक आभूषण ,श्वेतकुष्ठ का दाग |
बालबालक ,अनाज की बाली , रोम,दूध |
बादलमेघ , अभ्र, दूधिया रंग का एक पत्थर|
बाणबाणभट्ट ,बाणासुर ,तीर ,निशाना, गाय का थन |
बिजलीतड़ित, रगड़, एक गहना ,विद्युत , आम की गुठली के भीतर का गूदा |
भुजंगजार ,पति ,विदूषक ,साँप, सीसा |
माधवशहद से बना , वासंती ,कृष्ण, मक्खन |
मित्रसूर्य , बारह आदित्यों मे से एक , दोस्त |
मधुशराब , शहद , बसंत ऋतु , चैत्र मास , पराग , मीठा |
मंगलवीर, शुभ, सौभाग्य ,एक दिन ,एक ग्रह |
रसआनंद ,स्वाद, साहित्य का रस , गन्ने या फलों का रस , जल ,अमृत , सार |
रजधूल , भस्म , सार, तरल पदार्थ |
रागगाने की लय , प्रेम , आसक्ति ,रागिनी |
राजाशासक , धनी, प्रिय ,स्वामी, एक उपाधि |
लक्ष्यनिशाना , बहाना, उद्देश्य ,अभीष्ट वस्तु |
लगनचाह , मुहूर्त, लगाव, संलग्न |
वनजंगल , समूह ,बाग, घर , जल, फूलों का गुच्छा |
वर्णअक्षर , रंग ,जाति, रूप, वंश प्राशंसा , समाज के चार वर्ण |
वरदूल्हा , श्रेष्ठ , वरदान , आशीर्वचन |
वारदिन, प्रहार, अवसर , बारी |
वारिदबादल , जल देने वाला , नागर मोथा |
विधिब्रह्मा , कानून , भाग्य ,रीति |
शशांकचंद्रमा , मोर , एक राजा |
श्रुतिवेद , संज्ञा, कान , ज्ञान , सुनना ,कथन , उक्ति |
शिखाचोटी , किरण ,ज्वाला |
संज्ञाचेतना ,नाम, सूर्य की पत्नी, जानकारी , समझ |
साधनाआराधना ,उपासना, कार्यसिद्धि , अभ्यास करना |
सारंगमोर , साँप , कोयल,स्त्री ,रात्रि, बादल ,एक राग ,कमल|
सूर्यसूरज , मदार का पौधा , उच्च पद , मित्र |
सुरभिसुगंध ,वसंत ,कामधेनु |
स्रोतसोता, धारा, ज्ञानेंद्रिय ,जरिया|
स्नेहतेल , प्रेम,चिकनाई |
सोमसोम रस , कुबेर ,सोमवार, चंद्र , स्वर्ण |
हयघोड़ा ,इंद्र, एक छंद का नाम |
हंस पक्षी , आत्मा , सूर्य |
हरि विष्णु , वानर , सिंह ,मोर ,तोता, कामदेव |
हर शंकर , हरण ,आग |
हलधर किसान , बैल , बलराम |
हार पराजय , गले का आभूषण , पुष्प माला |
हेम सोना , हिम , जल , बुध ग्रह , धतूरा |

3 responses to “अनेकार्थी शब्द”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

वेबसाइट के होम पेज पर जाने के लिए क्लिक करे

Donate Now

Please donate for the development of Hindi Language. We wish you for a little amount. Your little amount will help for improve the staff.

कृपया हिंदी भाषा के विकास के लिए दान करें। हम आपको थोड़ी राशि की कामना करते हैं। आपकी थोड़ी सी राशि कर्मचारियों को बेहतर बनाने में मदद करेगी।

[paytmpay]