सन्धि की परिभाषा –

दो वर्णो के मेल को सन्धि कहते है| अर्थात जब प्रथम शब्द का अंतिम अक्षर और व्दितीय शब्द का प्रथम अक्षर मिलकर एक नया रुप धारण कर लेते है | इस क्रिया को सन्धि कहते है | पुन; उसी शब्द को अलग – अलग लिखने की क्रिया को सन्धि विच्छेद कहते है

सन्धि के प्रकार – सन्धि के तीन भेद है –
स्वर सन्धि
व्यंजन सन्धि
विसर्ग सन्धि

स्वर सन्धि की परिभाषा –

स्वर का स्वर के साथ मेल होने पर जो परिवर्तन होता है उसे स्वर सन्धि कहते है |

स्वर सन्धि के भेद – मुख्य रुप से स्वर सन्धि के पाँच भेद है –
यण सन्धि
वृद्धि सन्धि
गुण सन्धि
दीर्घ सन्धि
अयादि सन्धि

नोट-पाठ्यक्रम में केवल यण और वृद्धि सन्धि हैं | जिसका वर्णन निम्न प्रकार है |

1 यण सन्धि -[ सूत्र – इकोयणचि ] –

यदि हृस्व या दीर्घ इ,उ,ऋ,लृ के बाद असमान स्वर आते है तो इ,ई का य् , उ-ऊ का व् , ऋ का र् और लृ का ल् हो जाता है |

जैसे – प्रति +एक:= प्रत्येक: |
यण सन्धि का उदाहरण –
अति+अंत:= अत्यंत:
इति + आदि= इत्यादि
यदि+अपि= यद्यपि
प्रति +एक:= प्रत्येक:
इति +अत्र= इत्यत्र
अति +आचार:= अत्याचार:
नारी +उपदेश:= नार्युपदेश:
परी+उपासते =पर्युपासते
सुधी+उपास्य: =सुध्युपास्य:
सु+आगतम् =स्वागतम्
मधु +अरि:=मध्वरि:
अनु +एषणम् =अन्वेषणम्
वधू +आगमनम्= व्ध्वागमनम्
गुरू +आदेश: =गुर्वादेश:
पितृ +आज्ञा = पित्राज्ञा
मातृ +आज्ञा =मात्राज्ञा
लृ +आकृति : =लाकृति :

2. वृद्धि सन्धि ‌- [ सूत्र – वृद्धिरेचि ] –

जब अ या आ के बाद ए या ऐ तथा ओ या औ आये तो इनके स्थान पर क्रमश: ऐ, औ हो जाता है |

जैसे – अ,आ +ए,ऐ =ऐ
अ,आ +ओ,औ =औ
एक+ एक: =एकैक:

वृद्धि सन्धि का उदाहरण –

तथा +एव = तथैव
यदा +एव = यदैव
सदा +एव =सदैव
मम +एव =ममैव
मत +ऐक्यम्=मतैक्यम्
महा +ओज:= महौज:
जल+ ओघ: =जलौघ:
महा+ओषधि: =महौषधि:
तव +औदार्यम् =तवौदार्यम्
वन +औषधम् =वनौषधम्
महा+ओघ: =महौघ:
रत्न+ओघ: =रत्नौघ:
वन +ओकस: =वनौकस:

Remaining will come SOON..


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

वेबसाइट के होम पेज पर जाने के लिए क्लिक करे

Donate Now

Please donate for the development of Hindi Language. We wish you for a little amount. Your little amount will help for improve the staff.

कृपया हिंदी भाषा के विकास के लिए दान करें। हम आपको थोड़ी राशि की कामना करते हैं। आपकी थोड़ी सी राशि कर्मचारियों को बेहतर बनाने में मदद करेगी।

[paytmpay]