रामकाव्य का परिचय एवं स्रोत ----


रामकाव्य परम्परा से हमारा अभिप्राय उन कवियों एवं काव्यों से है ,जिन्होने रामकथा को अपने काव्य का विषय बनाया | रामभक्त कवियों ने राम को मर्यादा पुरुषोत्तम , महामानव एवं ईश्वर की उपाधि से सम्बोधित किया | वैदिक काल और भागवत धर्म में स्वीकृत विष्णु ईसा से लगभग पाँच हजार वर्ष पूर्व के है |अनेक उपलब्ध प्रमाणों से एक बात सिद्ध होती है कि वाल्मीकि कृत ‘रामायण ‘ जो संस्कृत भाषा में लिखी गई है , राम कथा का मूल स्रोत माना जाता है | ‘रामायण ‘ को आदि काव्य की संज्ञा से विभूषित किया जाता है | इस ग्रंथ में बुद्धावतार का वर्णन नहीं मिलता इस कारण विद्वानों ने इसका काल बुद्ध पूर्व माना है |

‘रामायण ‘ के तीन पाद है-

(i) दक्षिणात्य (ii) गौड़ीय (iii)पश्चिमोत्तरी
इसके अलावा रामकथा उपनिषदों और पुराणों में मिलती है | बौद्ध जातक कथाओं में राम कहानी ‘दशरथ जातक ‘ में प्राप्त होती है | जैन ग्रंथों में अपेक्षा कृत विस्तार पूर्वक रामकथा वर्णित है | उत्तर भारत में रामभक्ति को फैलाने का कार्य आचार्य रामानुज की परम्परा में राघवानंद द्वारा किया गया | राघवानंद के शिष्य रामानंद थे | इसके अतिरिक्त अनेक आचार्यो एवं कवियों ने रामकथा को आगे बढ़ाने का कार्य किया |
आधुनिक युग में रामकथा पर अनेक साहित्य लिखे गये | राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त ने रामकथा की महत्ता को दर्शाते हुए कहते है कि –


राम, तुम्हारा चरित स्वयं ही काव्य है |
कोई कवि बन जाय ,सहज संभाव्य है ||


रामभक्ति के सम्प्रदाय

सम्प्रदाय आचार्य
श्री सम्प्रदाय रंगनाथमुनि ,पुण्डरी काक्ष , राममिश्र ,यमुनाचार्य ,रामानुजाचार्य
ब्रह्म सम्प्रादाय मध्वाचार्य

जैन साहित्य में रामकथा पर आधारित प्रमुख ग्रंथों की सूची –
जैन साहित्य में बौद्ध साहित्य की अपेक्षा विस्तार पूर्वक रामकथा वर्णित है | जिसका विवरण निम्न है ---

रचयिता का नाम रचना का नाम
विमलसूरि पउमचरियम्
गुणभद्र उत्तरपुराण
हरिषेण कथाकोष
स्वयंभू पउमचरिउ
पुष्पदंत महापुराण
भुवनतुंग सियारामचरितम् ,रामचरियम्

संस्कृत भाषा में रामकथा पर आधारित प्रमुख ग्रंथों की सूची -----
संस्कृत साहित्य में रामकथा को आधार बनाकर अनेक साहित्य लिखे गये | जिसका विवरण निम्न है ---

रचयिता का नाम रचना का नाम
वाल्मीकि रामायण
कालिदास रघुवंश
भाष प्रतिमा नाटक ,अभिषेक नाटक
भवभूति उत्तररामचरित , महावीर चरित
कुमारदास जानकी हरण
राजशेखर बाल रामायण
जयदेव प्रसन्नराघव
सोमेश्वर उल्लास राघव
दिड.नाग कुंदमाला
मुरारि अनंग राघव

आधुनिक भारतीय भाषाओं में रामकथा पर आधारित प्रमुख ग्रंथों की सूची ---

रचयिता रचना भाषा
कम्ब कम्ब रामायण तमिल
कृत्तिवास कृत्तिवासी रामायण बंगला
एकनाथ भावार्थ रामायण मराठी
माधव कंदली पद रामायण असमिया
शंकर देव गीति रामायण असमिया
माधव देव कथा रामायण असमिया
गिरिधर स्वामी अर्द्ध रामायण , मंगलरामायण सुंदर रामायण मराठी
भास्कर भास्कर रामायण तेलगू
कविमालण गुजराती रामायण गुजराती
बेणावाई देशपाण्डे रामायण मराठी

हिंदी भाषा में रामकथा पर आधारित प्रमुख ग्रंथों की सूची -------

रचयिता जीवनकाल रचना का नाम
रामानंद 1400-1470 ई. रामरक्षा स्तोत्र
अग्रदास 16वी. शती अष्टयाम (रामाष्टयाम) ,पदावली , हितोपदेश भाषा , उपासना बावनी,रामभजन मंजरी ,ध्यानमंजरी
विष्णुदास —- वाल्मीकि रामायण का हिंदी अनुवाद
ईश्वर दास 1480-1550 ई. सत्यवती कथा , भरत मिलाप ,अंगदपैज
मुनि लावण्य ———- रावणमंदोदरी सम्वाद
गोस्वामी तुलसी दास 1532-1623 ई. रामचरितमानस ,विनयपत्रिका , गीतावली,कवितावली ,दोहावली , जानकी मंगल ,पार्वती मंगल, रामलला ,नहछू , रामाज्ञा प्रश्नावली , वैराग्य संदीपनी , कृष्णगीतावली ,बरवै रामायण |
नाभादास 1570-1650 ई. अष्टयाम , भक्तमाल
केशवदास ——- रामचंद्रिका
सेनापति ——– कवित्त रत्नाकर
प्राणचंद्र चौहान 17वीं शती रामायण महानाटक
माधवदास चारण 17वीं शती अध्यात्म रामायण , रामरासो
हृदय राम 17वीं शती हनुमन्नाटक
नरहरि वापट —— पौरुषेम रामायण
लालदास 17वीं शती अवध विलास
परशुराम देव —– दशावतार चरित , रघुनाथ चरित
माधव दास जगन्नाथी —— रघुनाथ लीला
मैथिलीशरण गुप्त 03.08.1886-12.12.1964 साकेत

Comments are closed.

वेबसाइट के होम पेज पर जाने के लिए क्लिक करे

Donate Now

Please donate for the development of Hindi Language. We wish you for a little amount. Your little amount will help for improve the staff.

कृपया हिंदी भाषा के विकास के लिए दान करें। हम आपको थोड़ी राशि की कामना करते हैं। आपकी थोड़ी सी राशि कर्मचारियों को बेहतर बनाने में मदद करेगी।

[paytmpay]